क्या नियमित व्यायाम कैंसर की संभावना को कम करता है ?

एरोबिक व्यायाम वह व्यायाम है जिसके लिए शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए शरीर को बहुत तेजी से रक्त पंप करना पड़ता है। एरोबिक व्यायाम में दौड़ना, नृत्य, तैराकी और लंबी पैदल यात्रा आदि शामिल हैं।

Cancer Epidemiology, Biomarkers and Prevention नामक पत्रिका ने हाल ही में एक अध्ययन किया कि दैनिक व्यायाम (daily exercise)  स्तन कैंसर होने के जोखिम को कैसे कम करता है। जिस प्रकार के व्यायाम (exercise) ने विशेष रूप से स्तन कैंसर को रोकने में मदद की, वह एरोबिक व्यायाम था। एरोबिक व्यायाम वह व्यायाम है जिसके लिए शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए शरीर को बहुत तेजी से रक्त पंप करना पड़ता है। एरोबिक व्यायाम में दौड़ना, नृत्य, तैराकी और लंबी पैदल यात्रा  आदि शामिल हैं।

एरोबिक व्यायाम  केवल कैंसर के जोखिम को ही कम नहीं करता है बल्कि  यह आपके टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग की संभावना को  भी कम करता है। व्यायाम करने से इन बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है। उच्च इंसुलिन का स्तर और शरीर में वसा की उच्च मात्रा इन बीमारियों को उत्पन्न  करने वाले   जोखिमो  के महत्वपूर्ण संकेत हैं। व्यायाम आपके रक्त शर्करा को कम करता है और आपको वजन कम करने में मदद करता है जिससे ये जोखिम कारक कम हो जाते हैं।

व्यायाम आपके रोगों के जोखिम को न केवल कम करता है बल्कि यह आपके जीवन को लम्बा करने में भी मदद है! शोध से पता चलता है कि जो वयस्क रोजाना 9 घंटे या उससे अधिक समय तक बैठ कर काम करते  हैं उनकी तुलना में किसी भी तरह की सक्रिय  गतिविधि में भाग लेने वाले लोगों में अधिक लंबा जीवन होने की संभावना होती  है। लगातार सक्रियता  आपकी शरीर  की मांसपेशियों को स्वस्थ रखता है और आपके शारीर को आकार में बने रहने में मदद करने के साथ ही शरीर के  रक्त परिसंचरण में सुधार करता है!

स्वस्थ एवं संतुलित आहार बनाए रखने से भी बीमारी को रोकने में मदद मिल सकती है। डॉक्टर एक संतुलित आहार का सेवन  करने की सलाह देते हैं जिसमें स्वस्थ रहने के लिए सब्जियां, फलियां, साबुत अनाज और समुद्री भोजन शामिल हैं। संतुलित  आहार का कोई प्रत्यक्ष प्रमाण नहीं है कि यह कैंसर के खतरे को कम करता है, लेकिन संतुलित आहार से मोटापा कम होता है जो कैंसर का एक बड़ा कारण है। हालांकि, ब्रोकोली, फूलगोभी,  स्क्वैश, गाजर, और पालक जैसी सब्जियां खाने से स्तन कैंसर का खतरा कम होता है। आहार विशेषज्ञ भोजन में फास्ट फूड, मीठा पेय और प्रोसेस्ड मीट कम करने की सलाह देते  हैं क्योंकि वे आपके मोटापे के खतरे को बढ़ा सकते हैं जिससे कैंसर हो सकता है। रेड मीट की बजाय प्रोटीन के लिए चिकन, सीफूड और फलियां खाने वाले बच्चों को कैंसर होने की संभावना भी कम होती है।

आहार विशेषज्ञ बीमारी से बचाव के लिए और शरीर में पोषक तत्वों के स्तर को बनाये रखने के लिए अनावश्यक  पोषक तत्वों के  सप्लीमेंट्स से दूर रहने की सलाह देते हैं और इसके बजाय उन पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह देते  हैं.